(Drama) - नाटक

(Drama) – नाटक


नाटक (Drama)

भारतेंदु युग

नाटककारनाटक
प्राणचंद चौहानरामायण महानाटक
महाराज विश्वनाथ सिंहआनंद रघुनंदन
गोपालचंद्र गिरिधर दासनहुष
भारतेंदु हरिश्चंद्रविद्यासुंदर, रत्नावली, पाखण्ड विडंबन, धनंजय विजय, कर्पूर मंजरी, भारत-जननी, मुद्राराक्षस, दुर्लभ बंधु (उपर्युक्त सभी अनूदित); वैदिकी हिंसा हिंसा न भवति, सत्यहरिश्चंद्र, श्रीचन्द्रावली, विषस्य विषमौषधम, भारत-दुर्दशा, नीलदेवी, अँधेरे नगरी, सती प्रताप, प्रेम योगिनी (मौलिक)
शिवनंदन सहायकृष्ण-सुदामा नाटक
लाला श्रीनिवासदाससंयोगिता स्वयंवर, प्रहाद-चरित्र, रणधीर प्रेममोहिनी, तप्त संवरण
राधाचरण गोस्वामीअमरसिंह राठौर, बूढ़े मुँह मुँहासे (प्रहसन)
किशोरीलाल गोस्वामीमयंक मंजरी, प्रणयिनी-परिणय
प्रताप नारायण मिश्रभारत-दुर्दशा, कलिकौतुक रूपक, संगीत शाकुंतल, हठी हम्मीर
बालकृष्ण भट्टकलिराज की सभा, रेल का विकट खेल, दमयंती स्वयंवर, जैसा काम वैसा परिणाम (प्रहसन), नई रोशनी का विष, वेणुसंहार
शीतला प्रसाद त्रिपाठीजानकीमंगल
राधाकृष्ण दासमहाराणा प्रताप, दुःखिनी बाला, पद्यावती, धर्मालाप
देवकीनंदन त्रिपाठीभारत-हरण
अयोध्यासिंह उपाध्याय ‘हरिऔध’प्रद्युम्न विजय व्यायोग, रुक्मिणी परिणय

प्रसाद/प्रसादोत्तर नाटक

नाटककारनाटक
माखनलाल चतुर्वेदीकृष्णार्जुन युद्ध
वृंदावनलाल वर्मासेनापति ऊदल
मिश्रबंधुनेत्रोन्मीलन
जयशंकर प्रसादकरुणालय, सज्जन, कामना, विशाख, कल्याणी परिणय, अजातशत्रु, एक घूँट, प्रायश्चित, चंद्रगुप्त, जनमेजय का नागयज्ञ, स्कंदगुप्त, ध्रुवस्वामिनी
हरिकृष्ण ‘प्रेमी’स्वर्णविहान, रक्षाबंधन, साँपों की सृष्टि, पाताल विजय, शिवसाधना, स्वप्नभंग, विषपान, अमृत पुत्री, उद्धार, प्रतिशोध
लक्ष्मीनारायण मिश्रअशोक, संन्यासी, आधी रात, मुक्ति का रहस्य, राक्षस का मंदिर, राजयोग, सिंदूर की होली, अपराजित, चक्रव्यूह
रामनरेश त्रिपाठीसुभद्रा, जयंत
प्रेमचंदकर्बला, संग्राम, प्रेम की बेदी
चतुरसेन शास्त्रीउत्सर्ग, अमर राठौर
उदयशंकर भट्टविक्रमादित्य, विश्वामित्र, दाहर अथवा सिंध पतन, शक-विजय, मत्स्यगंधा
सुदर्शनअंजना, आनरेरी मजिस्ट्रेट, भाग्यचक्र
पाण्डेय बेचन शर्मा ‘उग्र’चुंबन, डिक्टेटर
सुमित्रानंदन पंतज्योत्स्ना, रजत शिखर, शिल्पी सौवर्ण
मैथलीशरण गुप्तअनघ, तिलोत्तमा, चंद्रहास
‘अश्क’जय-पराजय, छठा बेटा, कैद, उड़ान, अलग-अलग रास्ते, सूखी डाली, तौलिए, पर्दा उठाओ पर्दा गिराओ, कस्बे के डिस्को क्लब का उदघाटन, भँवर, अंधी गली, पैंतरे
विष्णु प्रभाकरडॉक्टर, समाधि, टूटते परिवेश, अब और नहीं, लिपस्टिक की मुस्कान, नवप्रभात, रक्तचंदन, युगे युगे क्रांति
जगदीशचंद्र माथुरकोणार्क, शारदीया, पहला राजा, दशरथ नंदन
धर्मवीर भारतीअंधा युग
‘अज्ञेय’उत्तरप्रियदर्शी
डॉ० लक्ष्मीनारायण लालअंधा कुआँ, मादा कैक्टस, रातरानी, तीन आँखों वाली मछली, सुंदर रस, सूखा सरोवर, रक्तकमल, कलंकी, सूर्यमुखी, पंचपुरुष, मिस्टर अभिमन्यु, करफ्यू, सुगन पंछी, दर्पन, गंगामाटी, राक्षस का मंदिर
मोहन राकेशआषाढ़ का एक दिन, लहरों के राजहंस, आधे-अधूरे, पैरों तले की जमीन (अधूरा)
सेठ गोविंददासस्नेह या स्वर्ग, कर्तव्य
गिरिजा कुमार माथुरकल्पांतर
सिद्धनाथसृष्टि की साँझ, लौह देवता, संघर्ष, विकलांगों का देश, बादलों का शाप
दुष्यंत कुमारएक कण्ठ विषपायी
मन्नू भण्डारीबिना दीवारों के घर, रजनी दर्पण
नरेश मेहतासुबह के घंटे, खंडित यात्राएँ, उलझन
शिवप्रसाद सिंहघाटियाँ गूँजती है।
ज्ञानदेव अग्निहोत्रीनेफा की एक शाम, शुतुरमुर्ग
विपिन कुमार अग्रवालतीन अपाहिज, खोए हुए आदमी की खोज
सुरेंद्र वर्माद्रौपदी, आठवाँ सर्ग, सूर्य की अंतिम किरण से सूर्य की पहली किरण तक, सेतुबंध, छोटे सैयद बड़े सैयद, शकुन्तला की अँगूठी
गिरीश कर्नाडतुगलक, नागमंडल, रक्त-कल्याण
सर्वेश्वरदयाल सक्सेनाबकरी, लड़ाई, कल भात आएगा
मुद्राराक्षसमरजीवा, तेंदुआ, तिलचट्टा
भीष्म साहनीकबीर खड़ा बजार में, हानूश, माधवी
हबीब तनवीरचरणदास चोर, मिट्टी की गाड़ी, आगरा बाजार
शंकर शेषएक और द्रोणाचार्य, फंदी, बंधन अपने-अपने, कोमल गांधार
गिरिराज किशोरनरमेध, प्रजा ही रहने दो
मणि मधुकररसगंधर्व, खेला पोलमपुर
निर्मल वर्मातीन एकांत, वीक एण्ड, धूप का एक टुकड़ा, डेढ़ इंच ऊपर
गोविंद चातककाला मुँह, अपने-अपने खूँटे
विजय तेंदुलकरघासीराम कोतवाल, हल्ला बोल
स्वदेश दीपकनाटक बाल भगवान, कोर्ट मार्शल, जलता हुआ रथ, सबसे उदास कविता, काल कोठरी

Leave a Reply